Posts

Showing posts from October 25, 2015

स्वामी अप्रतिमानंदा जी के अप्रतिम साहित्य के अप्रतिम प्रभाव की एक अप्रतिम झलक

Image
हिंदी भाषा के सुप्रसिद्ध साहित्यकार स्वामी अप्रतिमानंदा जी की लोकप्रिय लघु कहानियाँ पुणे से प्रकाशित हिंदी भाषा के ख्याति प्राप्त दैनिक समाचारपत्र 'दैनिक दिवस-रात्री' के सुप्रसिद्ध स्तंभ 'दिव्य चक्षु' में एवं पाक्षिक साहित्यिक पत्रिका 'सीधी बात' में  एक बड़े समय तक प्रकाशित होती रहीं हैं। साथ ही इन पत्र-पत्रिकाओं में उनकी अप्रतिम कवितायेँ भी साहित्य-प्रेमियों को भाव विभोर करती रही हैं। स्वामी अप्रतिमानंदा जी के अप्रतिम साहित्य के अप्रतिम प्रभाव की एक अप्रतिम झलक: [१] शाहरुख़ ख़ान का प्रसिद्ध हिंदी चित्रपट 'स्वदेश' स्वामी अप्रतिमानंदा जी की 'दैनिक दिवस-रात्री' में प्रकाशित एक लोकप्रिय लघु कहानी से प्रेरित बताया जाता है। इस कहानी ने बुद्धिजीवियों की अप्रवासी भारतीयों के प्रति ब्रेन ड्रेन [ब्रेन ड्रेन brain drain - बुद्धि पलायन] की भावना को ब्रेन गेन brain gain - बुद्धि आगमन/लाभ] के रूप में बदल दिया। सत्य यह है कि 'ब्रेन गेन' शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग  स्वामी अप्रतिमानंदा जी ने ही किया था ! 'ब्रेन गेन' [brain gain] शब्द स्वामी अप्रतिमानंद…

ALWAYS BE HOPEFUL....!

Image
"After every failure, there is Success....After every disaster, there is hope...!"
~ J G M J V S A J